Bharat News Today

21 रमज़ान: शहादत हज़रत अली..
इमामबाडा हुसैन अली खान का अलम, ताबूत और ज़ुलजना जुलूस निकला

दरियाबाद के प्रसिद्व इमामबाड़ा हुसैन अली खां का 21 रमज़ान: शहादत हज़रत अली का अलम , ताबूत और ज़ुलजना की शबी का जलूस इमामबाड़े से पूरी अक़ीदत के साथ निकाला गया। जुलूस से पहले इमामबड़े इसके अंदर एक मजलिस हुई जिसे जनाब अशरफ़ अब्बास साहब ने खेताब फरमाया। जुलूस में नगर की प्रसिद्ध अंजुमन, अंजुमन ए हाशिमया ने नौहखानी और सीनाज़नी की। इस दौरान अंजुमन ए हाशिमया के साइबेबॉयज़ अर्शी,यासिर सिबटेंन, फ़ैज़ी, अनदिल, मोहम्मद आदि ने नौहा पढ़ा।
*”इस्लाम के सर पे ज़र्ब लगी ईमान का दिल दो पारा है।”*
*”काबे में हुआ था जो पैदा मस्जिद में उसी को मारा है।।”*
कार्यक्रम के संचालक ज़ौरेज़ हैदर ने बताया कि पुरुषों के बाद इमामबड़े के अंदर ज़ुलजना के सामने महिलाओं ने भी नौहा मातम कर के हज़रत अली को खेराजे ए अक़ीदत पेश किया। इस मौके पर नगर के गणमान्य व्यक्ति आगा सरदार खां,समाजवादी नेता,मशद खां,सज्जू भाई, दावर नवाज़, रानू, फीतरूस नवाज़,अब्बास ज़ैदी आदि उपस्थित थे।
जुलूस के अंत में इमामबाडा के मुन्तज़िम मुतवल्ली मंज़र अली ने अंजुमन सहित सभी श्रद्धालुओं का शुक्रिया अदा किया।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price