Bharat News Today

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा से पहले कितना बनकर तैयार हुआ राम मंदिर,जानिए सब

अयोध्या।रामनगरी अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा की तैयारी युद्धस्तर पर साथ चल रही है। 22 जनवरी 2024 को रामलला भव्य राम मंदिर में विराजमान होंगे।रामलला के राम मंदिर में विराजमान होने से पहले राम मंदिर के पहले चरण का कार्य पूरा कर लिया जाएगा।राम मंदिर में रामलला जहां विराजमान होंगे उस गर्भ ग्रह को बनाकर तैयार कर दिया गया है।इसके साथ ही राम मंदिर का कार्य भी लगभग पूरा हो गया है।राम मंदिर को रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के लिए तैयार किया जा रहा है।

आइए जानते हैं रामलला के प्राण प्रतिष्ठा से पहले कितना बनकर तैयार हुआ राम मंदिर

राम मंदिर के भूतल का निर्माण 95% पूरा हो चुका है।राम मंदिर को अब रामलाला के प्राण प्रतिष्ठा के लिए तैयार किया जा रहा है।राम मंदिर के फर्श पर इनले का काम भी पूरा हो गया है।अब खंभों की सफाई और राम मंदिर के फर्श पर घिसाई का काम शुरू होगा।इसके साथ ही रामलला के परिसर में जाने वाली सीढ़ियों पर संगमरमर लगाए जाने का काम पूरा हो गया है।राम मंदिर में जाने के लिए परकोटे और मंदिर के बीच की जगह पर जाने वाले मार्ग पर कर्नाटक के पत्थर लगाए जाएंगे।

हरियाली को संरक्षित किया जाएगा

इसके साथ ही आसपास खाली जगह पर हरियाली को संरक्षित किया जाएगा।इतना ही नहीं रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के पहले राम मंदिर को जाने वाले संपर्क मार्ग पर भी कैनोपी के बीच में हरियाली संरक्षित की जाएगी। वन विभाग संपर्क मार्ग को हरा भरा बनाएगा।धूप और बारिश से बचाव के साधन से सुसज्जित होगा।संपर्क मार्ग पर प्रकाश की भी पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी।रामलला के परिसर में सुरक्षा के भी पर्याप्त इंतजाम पूरे कर लिए जाएंगे। 25 दिसंबर तक रामलला को अत्यधिक सुरक्षा उपकरणों से लैस कर दिया जाएगा।योगी सरकार की तरफ से मंगाए गए सुरक्षा उपकरण, जिसमें स्कैनर प्रिस्क्रिप्शन मशीन भी 20 दिसंबर तक परिसर में लगाई जाएगी।

कुबेर टीला पर भी साज सजा का काम

राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य डॉक्टर अनिल मिश्रा की मानें तो 30 दिसंबर तक सुरक्षा, प्रकाश, अवागमन यात्री सुविधा का कार्य राम जन्मभूमि परिसर में पूरा कर लिया जाएगा।इसके साथ ही कुबेर टीला पर भी साज सजा का काम तेजी के साथ किया जा रहा है,जिसका काम जीएमआर कंपनी कर रही है।संपूर्ण परिसर के साज सज्जा का काम जीएमआर कंपनी का है।

इन बिंदुओं से समझें कितना बन गया रामलला का मंदिर

राम मंदिर में विराजमान होने वाले बालक राम की प्रतिमा का निर्माण भी लगभग पूरा।
राम मंदिर के गर्भ गृह के निर्माण का सभी काम पूरा हो चुका है।सिंह द्वार के खम्भों में बनाए जाने वाली मूर्तियों के निर्माण का काम भी पूरा हो चुका है।
फर्श के निर्माण का काम सभी मंडप में पूरा हुआ।फर्श की घिसाई का काम भी शुरू हो चुका है।घिसाई के पहले मंदिर में बनाए गए सभी खभों की सफाई होगी।
सीढियों पर संगमरमर लगाया जा चुका है।राम मंदिर की सीढ़ियों के दोनों तरफ लगाए जाने वाली प्रतिमाएं भी बनकर तैयार हैं जल्दी लगायी जाएंगी।
राम मंदिर का भूतल 95% बनकर तैयार हो चुका है।
राम मंदिर और परकोटा के बीच में पत्थर लगाए जाने का कार्य शुरू हो चुका है।
परकोटे से मंदिर जाने वाले मार्ग पर भी कर्नाटक का पत्थर लगाया जाएगा।खाली जगह हरियाली लगाई जाएगी।
राम जन्मभूमि परिसर में तीर्थ यात्रियों के चलने वाले मार्ग पर निर्माण का कार्य तेजी के साथ पूरा किया जा रहा है।
राम जन्म भूमि के संपर्क मार्ग पर केनोपी लगाई जा रही है।केनोपी के बीच में भी योगी सरकार की तरफ से वन विभाग पेड़ पौधा लगाएगा।
संपर्क मार्ग हरा भरा होगा।धूप और बारिश से बचाव के संसाधन उपलब्ध होंगे।प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था की जायेगी।
राम मंदिर परिसर में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम होंगे।सीसीटीवी की वायरिंग हो चुकी है।
25 दिसंबर से अत्यधिक सुरक्षा के उपकरण से रामलला का परिसर लैस होगा।योगी सरकार की तरफ से सुरक्षा उपकरण, स्कैनर प्रिस्क्रिप्शन मशीन 20 दिसंबर से लगाई जाएगी।
30 दिसंबर तक सुरक्षा,प्रकाश,आवागमन और यात्री सुविधा केंद्र का सभी कार्य पूरा कर लिया जाएगा।
कुबेर टीला पर निर्माण कार्य प्रगति पर है।साज सज्जा का कार्य चल रहा है।
कार्यदायी संस्था GMR कंपनी लैंडस्कैपिंग का कार्य कर रही है।
संपूर्ण परिसर को सजाने का काम जीएमआर कंपनी करेगी।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price