Bharat News Today

वाइस ख्वाजा गान का तीन दिवसीय सालाना उर्स आज से

इटावा। हर साल की तरह इस साल भी गंगा जमुनी तहजीब की प्रतीक दरगाह हजरत अरशद अली उर्फ माशूक अली वाइस ख्वाजा गान का तीन दिवसीय सालाना उर्स का आयोजन आज दो फरवरी से चार फरवरी तक फतेहपुर सीकरी के सज्जादानशीन सूफी हज़रत कमरूद्दीन मियां शम्सी लियाकती की सरपरस्ती में पूरी शानो-शौकत के साथ मनाया जायेगा उर्स की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।
उर्स के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए संयोजक मसूद तैमूरी एवं रईस अहमद ने बताया कि उर्स का आगाज दो फरवरी को बाद नमाज फजिर कुरान ख्वानी से होगा दस बजे चादर पेश होगी
बाद नमाज असर मीलाद शरीफ़ होगा। उर्स के दुसरे दिन बाद नमाज फजिर कुरान ख्वानी होंगी दस बजे चादरें और गागरे पेश करने का सिलसिला जारी रहेगा बाद नमाज असर सन्दल शरीफ़ होगा बाद नमाज ईशा महफिलें शमा का आयोजन किया गया है जिसमें बाहर से आए हुए कब्बाल अपना कलाम पेश करेंगे। श्री तैमूरी ने बताया कि उर्स के अन्तिम दिन बाद नमाज फजिर कुरान ख्वानी होंगी सुबह दस बजे बाइस ख्वाजा गान का गुस्ल शरीफ़ होगा और 11 बजे हज़रत अरशद अली उर्फ माशूक अली वाइस ख्वाजा गान का कुल शरीफ होगा इसके बाद रंगे महफ़िल के साथ उर्स का समापन होगा उन्होंने बताया कि उर्स की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है उर्स में जनपद इटावा के अलावा औरैया मैनपुरी जालोन फिरोजाबाद आगरा फतेहपुर सीकरी भिंड ग्वालियर मुरैना-श्योपुर कानपुर सहित राजस्थान के विभिन्न जनपदों से अकीदतमंद शिरकत करते हैं।

फोटो-01 दरगाह हजरत अरशद अली उर्फ माशूक अली वाइस ख्वाजा।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price