Bharat News Today

डॉ सूर्य कान्त ने किया स्नेक बाइट हेल्पडेस्क का शुभारंभ जनता कालेज बकेवर में यूपी का पहला सर्पदंश सहायता पटल शुरू

इटावा। वर्तमान समय में भारत विश्व भर में सर्पदंश से प्रभावित प्रमुख देश है जिसके तहत हर वर्ष हजारों लोगों की जान सर्पदंश के कारण सही समय पर सही इलाज न मिलने से चली जाती है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश की वर्तमान योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा भी अब सर्पदंश को राज्य आपदा घोषित किया जा चुका है। जिसके तहत सर्पदंश के बाद मृत्यु होने पर मृतक के परिवार को राज्य सरकार द्वारा देय चार लाख की आर्थिक  सहायता भी जिला प्रशासन के द्वारा नियमानुसार प्रदान की जा रही है। चूंकि बकेवर,भरथना,महेवा,चकरनगर इकदिल ये पूरा क्षेत्र सर्पदंश प्रभावित क्षेत्र भी माना जाता है जिसमे कोबरा एवं करैत सर्प के दंश की घटनाएं भी अक्सर ही सामने आती रहती है और अंधविश्वास में आकर ग्रामीण सर्पदंश में पीड़ित को अस्पताल न ले जाकर झाड़ फूंक कराने लगते है जिससे अक्सर पीड़ित की सही समय के अंदर इलाज (एंटीवेनम) न मिल पाने से हालत बिगड़ जाती है और एक घंटे ने अस्पताल पहुंचने की जगह रोगी का अमूल्य समय झाड़ फूंक कराने में ही व्यर्थ हो जाता है। समाज के इसी अंधविश्वास को दूर करने के साथ साथ सर्पदंश के पीड़ित को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाने के उद्देश्य से जनता कालेज बकेवर के विशाल परिसर में इस विशेष स्नेक बाइट हेल्पडेस्क की स्थापना की गई है,इसका शुभारंभ पर्यावरण एवं वन्यजीव संरक्षण के लिए समर्पित संस्था ओशन एवं मिशन स्नेक बाइट डेथ फ्री इंडिया यूपी के सहयोग से विशेष सर्प शिक्षा अभियान के अन्तर्गत लखनऊ से मुख्य अतिथि के रूप में पधारे किंग जार्ज मेडिकल कालेज  लखनऊ के रेस्पिरेट्री मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष, सुप्रसिद्ध चिकित्सक एवं संस्था ओशन के अध्यक्ष डॉ सूर्य कान्त ने फीता काटकर किया।


इस अवसर पर डॉ सूर्य कान्त ने कहा कि, इस क्षेत्र की शैक्षिक धरोहर एवम ऐतिहासिक संस्था रहे जनता कालेज बकेवर के इस विशेष सर्पदंश सहायता हेल्पडेस्क के माध्यम से आम जनमानस में सर्पदंश के सही उपचार की जानकारी को सही समय पर सही व्यक्ति तक पहुंचाया जा सकेगा जिससे सर्पदंश के बाद लोगों का अमूल्य जीवन भी बचेगा। उन्होंने जनता कालेज बकेवर ,संस्था ओशन एवम मिशन स्नेक बाइट डेथ फ्री इंडिया के द्वारा की गई इस अनूठी संयुक्त सामाजिक पहल की सराहना करते हुए हेल्पडेस्क के प्रभारी एवम संस्था ओशन के महासचिव,वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी को भविष्य में हेल्पडेस्क के सफल संचालन के लिए अपनी हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि,वे भी इस सर्पदंश सहायता पटल को अपना पूर्ण सहयोग देते रहेंगे।
इस अवसर पर कालेज के प्रबंधक/सेक्रेटरी अरविंद कुमार मिश्र ने कहा कि, इटावा जनपद में यमुना चंबल के इस ऐतिहासिक क्षेत्र में जनता कालेज बकेवर पूर्व से ही जनता के हितों के लिए लगातार ही प्रतिबद्ध रहा है किसानों के हित में आज के हमारे यह विशेष सर्पदंश सहायता पटल के शुरू करने का प्रयास भी उसी जनसेवा की भावना की हमारी प्रतिज्ञा का एक अंश मात्र ही है।
प्राचार्य डॉ आर के त्रिपाठी ने कहा कि, इस हेल्पडेस्क के संचालन से क्षेत्रीय ग्रामीणों को समय समय पर सर्पदंश उपचार से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारीयां सहायता पटल के हेल्पलाइन नम्बर 7017204213 से मिलती रहेगी।
सर्पदंश सहायता पटल के प्रभारी एवम महासचिव ओशन सर्प मित्र/सर्प शिक्षक डॉ आशीष त्रिपाठी ने कहा कि, सही समय पर सही जानकारी न मिलने के अभाव में और अंधविश्वास के कारण ही अक्सर लोगों की जान चली जाती है लेकिन इस सर्पदंश सहायता पटल के माध्यम से अब ग्रामीणों को इस क्षेत्र के विषहीन और विषधारी सर्पों को पहचानने की जानकारी के साथ साथ सही उपचार (फर्स्ट एड) की जानकारी भी मिल पायेगी जिससे जनता की अमूल्य जान भी बच सकेगी और सरकार का 4 लाख रूपये का बड़ा राजस्व भी बच सकेगा। स्नेकबाइट हेल्पडेस्क के शुभारंभ के इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ सूर्य कान्त,उनकी धर्मपत्नी श्रीमती प्रीतिकान्त विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे में केलिफोर्निया मेडिकल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ विपिन चतुर्वेदी उनकी धर्मपत्नी डॉ नीरजा चतुर्वेदी, डॉ वरुन चतुर्वेदी,सेक्रेटरी, जनता कालेज बकेवर अरविंद कुमार मिश्र,प्राचार्य डॉ आर के त्रिपाठी, प्रगतिशील किसान अमर सिंह, जन्तु विज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ ललित गुप्ता,अरविंद चौधरी
,सर्पदंश सहायता पटल के सहायक प्रभारी श्याम बाबू मिश्रा सहित प्रोफेसर डॉ ए के पाण्डेय, डॉ पी के राजपूत,डॉ एम पी यादव,डॉ एम पी सिंह,डॉ धर्मेंद्र कुमार,डॉ अभिषेक सिंह, डॉ आदित्य कुमार,देवेश चतुर्वेदी, पवन सक्सेना ,कुलदीप अवस्थी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price