Bharat News Today

लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे पर उतरेंगे लड़ाकू विमान दहाड़ेंगे सुखोई और जगुआर

उन्नाव।उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के बांगरमऊ क्षेत्र के खंभौली गांव के पास लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर बनी हवाई पट्टी पर एक बार फिर सुखोई और जगुआर दहाड़ेंगे।इस हवाई पट्टी पर छह साल बाद एक बार फिर लड़ाकू विमान उतरेंगे।छह अप्रैल को लैंडिंग परीक्षण के बाद सात अप्रैल को तीन घंटे संपूर्ण रिहर्सल होगी। इसको लेकर पुलिस तैयारी में जुट गई है।एक अप्रैल से ट्रैफिक डायवर्जन लागू कर दिया जाएगा।रिहर्सल के दौरान भीड़ होने पर तीन लेयर की सुरक्षा व्यवस्था का भी प्लान है।

बता दें की लखनऊ-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर बनी हवाई पट्टी पर एयरफोर्स के अधिकारियों ने 1अप्रैल से 10 अप्रैल तक हवाई पट्टी के साढ़े तीन किलोमीटर क्षेत्र को रिजर्व करने का नोटिफिकेशन उन्नाव के अफसरों को भेजा है।पुलिस के मुताबिक छह और सात अप्रैल को किसी भी वाहन को एक्सप्रेस-वे पर बांगरमऊ सीमा में नहीं जाने दिया जाएगा। एक से 10 अप्रैल तक आगरा से लखनऊ और लखनऊ से आगरा जाने वाले भारी व हल्के वाहनों को डायवर्ट कर सर्विस लेन से निकाला जाएगा।

हवाई पट्टी के क्षेत्र को पूरी तरह से ब्लाक रखा जाएगा।वहीं यूपीडा को टोल प्लाजा पर अनाउंसमेंट के जरिए वाहन चालकों को लड़ाकू विमानों के रिहर्सल की जानकारी देकर दूसरा मार्ग चुनने के लिए कहने को बोला गया है।पुलिस हवाई पट्टी के आसपास सुरक्षा बंदोबस्त कर रही है।वाहनों को निकालने के लिए रूट की रूपरेखा तैयार की जा रही है। एक अप्रैल से पांच अप्रैल तक हवाई पट्टी के एरिया की पानी से सफाई करने के साथ यूपीडा द्वारा प्रेशर मशीन से धूल हटाने और हवाई पट्टी पर मार्किंग का काम किया जाएगा।मवेशी अंदर न आने पाएं इसके लिए रन-वे के दोनों ओर बैरिकेडिंग लगाई जाएगी।

बता दें की 6 और 7 अप्रैल को सुखोई, मिराज, जगुआर एमआइ 17, कैरियर एयरक्राफ्ट हरक्यूलिस सी समेत 14-15 विमानों के लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे की हवाई पट्टी पर उतरने की उम्मीद है।इसका मकसद आपातकालीन स्थिति में लड़ाकू विमानों की लैंडिंग का अभ्यास है।ऐसा तीसरी बार है जब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर लड़ाकू विमान उतरेंगे। इससे पहले 21 नवंबर 2016 को एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण और 24 अक्टूबर 2017 को उद्घाटन के समय लड़ाकू विमान उतरे थे। संभावना जताई जा रही है कि लड़ाकू विमानों की रिहर्सल देखने के लिए भारी भीड़ जुटेगी।ऐसी स्थिति में सुरक्षा की नजर से पुलिस और पीएसी के जवानों की ड्यूटी लगाई जाएगी।तीन चक्र में सुरक्षा होगी। पहले चक्र में एयरफोर्स के जवान,दूसरे में पुलिस के साथ एयरफोर्स और तीसरे चक्र में पुलिस और पीएसी के जवानों की तैनाती रहेगी।कई थानों के प्रभारियों और सर्किल के सभी सीओ की भी ड्यूटी लगाई जाएगी।

सीओ बांगरमऊ अरविंद चौरसिया ने बताया की 6 और 7 अप्रैल को रिहर्सल होगा,जिसको लेकर तैयारियां की जा रही हैं।सीओ रूट डायवर्जन को लेकर भी प्लान किया जा रहा है । सीओ ने बताया कि 1 अप्रैल से ट्रैफिक डायवर्जन लागू होगा। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी उच्च अधिकारियों से मिले निर्देशों के क्रम में भी काम किया जा रहा है।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price