Bharat News Today

एसएमजीआई में हुआ फ़ार्मेसी की पुस्तकों का विमोचन (बाईलिगुअल फार्मेट में उपलब्ध है ये सभी पुस्तकें)

इटावा। सर मदनलाल ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन इटावा के चेयरमैन डा0 विवेक यादव एंव डायरेक्टर डा0 उमा शंकर शर्मा द्वारा फ़ार्मेसी की पुस्तकों “फार्माकोलोजी मैनुअल, हास्पिटल एंव क्लिनिकल फ़ार्मेसी तथा बायोकैमिस्ट्री एंव क्लिनिकल पैथोलॉजी” का विमोचन एसएमजीआई, इटावा में भव्यता के साथ किया गया।
ये पुस्तकें सर मदनलाल इंस्टीट्यूट आफ फार्मेसी, इटावा के डायरेक्टर, प्रोफ़ेसर डा0 उमा शंकर शर्मा, विभागाध्यक्ष एंव एसोसिएट प्रोफ़ेसर डा0 रेहान उद्दीन, असिस्टेंट प्रोफ़ेसर रिया माथुर द्वारा संयुक्त रूप से सम्पादित की गई है, एंव आर नारायन पब्लिशर्स एंव डिस्ट्रीब्यूट्रर्स,आगरा से बाईलिंगुअल लैंग्वेज में फार्माकोलोजी मैनुअल आईपी इन्नोवेटिव पब्लिकेशंस द्वारा प्रकाशित है।
चेयरमैन डा0 विवेक यादव ने पुस्तकों का विमोचन करते हुए पुस्तकों के सभी लेखकों को बधाई दी है। ये पुस्तकें पीसीआई नई दिल्ली के अधिनियम के तहत लिखी गई है, पुस्तकें संपूर्ण भारत वर्ष के फ़ार्मेसी के नये पाठ्यक्रम को ध्यान में रखकर ही लिखी गई है और सभी छात्रों के लिये अत्यंत उपयोगी भी हैं। फार्माकोलोजी मैनुअल की इन पुस्तक का एक अन्य लाभ यह भी है कि, प्रैक्टिकल के लिय छात्रों को अब कोई अलग-अलग मैनुअल नहीं पढ़ना पड़ेगा बल्कि पूरे बीफार्मा के चारों वर्ष के छात्र छात्राओं के लिए यह एक ही मैनुअल पर्याप्त होगा। वहीं
डी फार्मा के लिये हास्पिटल एंव क्लिनिकल फ़ार्मेसी तथा बायोकैमिस्ट्री एंव क्लिनिकल पैथोलॉजी पुस्तक लिखी गईं है जो कि,बाईलिगुअल फार्मेट मे उपलब्ध हैं। बाईलिगुअल फार्मेट में होने से छात्र एक ही पुस्तक को हिन्दी एंव अंग्रेज़ी दोनो भाषा मे  पढ़ सकता है। पुस्तकों मे चित्र भी हैं जो विधार्थी को विषय को सीखने मे मदद करेंगे। इन पुस्तकों का उपयोग कर के विधार्थी न केवल उत्तीर्ण होंगे बल्कि, परीक्षा में बहुत अच्छे अंक भी हासिल कर सकेंगे। ये पुस्तकें सभी दुकानों पर उपलब्ध है ।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price