Bharat News Today

गजब की दीवानगी अमिताभ बच्चन को वोट देने के बाद महिलाओं ने चूमा था मतपत्र लिपस्टिक से नौ हजार से अधिक वोट हो गए थे अवैध

लखनऊ।आजादी के बाद देश में हुए पहले लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक तमाम चुनाव और मतगणना में कुछ ऐसी मजेदार घटनाएं होती रही हैं, जो दशकों तक लोगों को याद रहती हैं। ऐसा ही एक दिलचस्प वाकया 1984 के लोकसभा चुनाव के दौरान प्रयागराज (तब इलाहाबाद)में हुआ। उस दौरान फिल्म सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने गृह जनपद इलाहाबाद लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतरे थे।उस समय अमिताभ बच्चन का हर वर्ग के लोगों पर क्रेज था।

इस लोकसभा चुनाव में अमिताभ बच्चन के प्रति लोगों ने खास तौर पर महिलाओं में गजब की दीवानगी देखी गई।उस दौरान मतदान के दिन बिग बी की तमाम महिला प्रशंसकों ने उन्हें अपना मत देने के बाद मतपत्र को होठों से चूम लिया,जिससे काफी संख्या में महिलाओं की लिपिस्टक की छाप मतपत्र में हो गई।जब मतगणना हुई तो मतगणना करने वाले कर्मचारी दंग रह गए जब हर बूथ पर हाथ के पंजे वाले चुनाव चिह्न पर लिपस्टिक के निशान मिले। लगभग हर बूथ पर यही हाल रहा, जिससे नौ हजार से अधिक मतपत्र अवैध घोषित कर दिए गए।

इंदिरा गांधी की हत्या के बाद पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कंधों पर कांग्रेस की जिम्मेदारी का बोझ आ गया। सत्ता में वापसी करना ही राजीव गांधी का लक्ष्य था। आम जनता की पूरी सहानुभूति कांग्रेस के साथ थी।कांग्रेस को बहुगुणा से हिसाब बराबर करना था,क्योंकि भारतीय लोकदल के दिग्गज नेता हेमवती नंदन बहुगुणा ने 1977 में कांग्रेस छोड़कर जनता पार्टी को केंद्र की सत्ता में पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाई थी।

इसी कारण से राजीव गांधी ने अपने दोस्त अमिताभ बच्चन को इलाहाबाद लोकसभा सीट से उतार दिया,क्योंकि अमिताभ बच्चन सुपर स्टार थे और विदेशों में भी लोकप्रिय थे।तमाम विदेशी मीडिया भी पहुंच गई।अमिताभ तब खुली जीप से ही प्रचार करने के लिए निकलते। अमिताभ की एक झलक पाने के लिए युवतियों और महिलाओं खूब होड़ मची रहती।महिलाओं में इस कदर दीवानगी थी कि मतदान के दिन उन्होंने मतपत्र पर ठप्पा लगाने के बाद उसे चूमा भी,जिससे उनकी लिपिस्टक की छाप मतपत्र में लग गई।

केपी कॉलेज में लगभग 20 घंटे तक मतगणना हुई। लगभग हर बूथ पर महिलाओं द्वारा मतपत्र का चुंबन लिए जाने से पंजे पर लिपिस्टक की छाप मिल रही थी।जब इसकी गिनती हुई तो 9736 बैलेट पेपर महिलाओं द्वारा चूमे जाने से पंजा चुनाव चिह्न पर लिपिस्टक की छाप मिली। इसे रिटर्निंग अफसर ने अवैध घोषित कर दिया।उस दौरान जया बच्चन ने संबंधित मत को निरस्त न करने का अनुरोध किया था। कहा था कि मतदाता ने स्पष्ट रूप से पंजे पर मुहर लगाई है, लेकिन अतिउत्साह में मतपत्र को चूमने में लिपिस्टक की छाप आ गई है। इन मतपत्रों को वैध किया जाए। रिटर्निंग अफसर ने उनकी आपत्ति को निरस्त करते हुए सभी मतपत्रों को अवैध घोषित किया। हालांकि वह चुनाव अमिताभ ने रिकार्ड मतों से जीता था।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price