Bharat News Today

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से अंतरराष्ट्रीय बाल संरक्षण दिवस के अवसर पर पाॅक्सो एक्ट व बाल अधिकार विषय के अन्तर्गत शिविर का आयोजन किया गया

जसवंतनगर/इटावा। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से अंतरराष्ट्रीय बाल संरक्षण दिवस के अवसर पर पाॅक्सो एक्ट व बाल अधिकार विषय के अन्तर्गत शिविर का आयोजन किया गया जिसमें बच्चों को उनके अधिकार बताए गए तथा अभिभावकों को बच्चों के अधिकारों व उनके संरक्षण के प्रति जागरूक किया गया। पॉक्सो एक्ट पर भी विस्तृत जानकारी दी गई।
भतौरा गांव के पंचायत घर में आयोजित उक्त जागरूकता शिविर में प्रतिष्ठित सामाजिक कार्यकर्ता प्रेम कुमार शाक्य ने कहा कि बाल अधिकारों का हनन किसी भी कीमत पर नहीं होना चाहिए यदि बच्चों का उत्पीड़न हो तो वह चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 पर तत्काल शिकायत दर्ज कराएं। उन्होंने कहा कि बच्चों से कोई भी मजदूरी नहीं करा सकता है यदि ऐसा करता कोई पकड़ा जाता है तो ऐसे लोगों पर कठोर कार्यवाही की जाती है इसके लिए भी कानून बना है। उन्होंने बताया कि पॉक्सो पीड़ित बच्चों के लिए सपोर्ट पर्सन भी नियुक्त कर दिए गए हैं।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से पीएलवी कु. नीरज शाक्य ने बाल अधिकारों की व्याख्या करते हुए भारत में बाल अधिकारों के संरक्षण पर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बच्चों से श्रम न कराया जाए उनकी शिक्षा पर ध्यान दिया जाए। 6 से 14 वर्ष तक की आयु के बच्चों को मुफ्त शिक्षा पाने का अधिकार है। उन्होंने बच्चों को गुड टच और बेड टच भी समझाए। उन्होंने बच्चों को शिक्षा का महत्व बताते हुए पेन भी वितरित किए।
कुछ दौरान प्रधान प्रतिनिधि पवन शाक्य, तहसील अमीन राजीव कुमार, पंचायत सहायक अंजलि, के अलावा किरन, एंजल, मोहित, सर्वेश, श्यामवीर आदि लोग भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price