Bharat News Today

यूपी के पहले स्काई वॉक ब्रिज की फर्श में आईं दरारें, उद्घाटन से पहले खुली गुणवत्ता की पोल,विपक्षी दल सरकार पर कस रहे तंज

चित्रकूट।उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में रानीपुर टाइगर रिजर्व क्षेत्र में तुलसी जल प्रपात पर बने प्रदेश के पहले ग्लास स्काई वॉक ब्रिज की गुणवत्ता की पोल उसके उद्घाटन से पहले खुल गई है।मानसून की पहली बारिश होते ही ब्रिज के रैंप की फर्श में दरारें आ गईं हैं।विपक्षी दल इसको लेकर योगी सरकार पर तंज कस रहे हैं।बरहाल वन विभाग अपना बचाव करता हुआ दिखाई दे रहा है।प्रभागीय वनाधिकारी (डीएफओ) का कहना है कि अभी ठेकेदार काम कर रहा है। पुल को हैंडओवर नहीं किया गया है।बता दें कि पर्यटन विभाग और वन विभाग ने मिलकर 3.70 करोड़ रुपये की लागत से स्काई वॉक ग्लास ब्रिज का निर्माण कराया है। ब्रिज के साथ टिकट विंडो,चबूतरे और सौंदर्यीकरण के काम भी शामिल हैं।पवनसुत कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी निर्माण कर रही है। अभी पुल लोगों के लिए खोला नहीं गया है।मारकुंडी के वन क्षेत्राधिकारी नदीम रिजवी ने बताया कि ब्रिज बन चुका है। अभी फिनशिंग का काम चल रहा है।ठेकेदार ने पुल में निकास और प्रवेश द्वार बनाया है। उसी में एक खाई होने पर मिट्टी डालकर फर्श बनाई थी।दो दिनों से वर्षा के चलते रैंप के पास मिट्टी धंसने से दरार आ गई है।गुरुवार को डीएफओ डॉ. नरेंद्र सिंह ने ब्रिज का निरीक्षण करके बताया कि पुल में कोई गड़बड़ी नहीं है।प्रवेश द्वार में बनाई गई सीढ़ी की फर्श में डाली गई मिट्टी धंसने से दरारें हैं। हालांकि जो-जो कमियां है उसकी रिपोर्ट तैयार करके आला अधिकारियों के साथ निर्माण कंपनी पवनसुत को भी भेजा गया है। वहीं सदर से सपा विधायक अनिल प्रधान ने आरोप लगाया कि क्षेत्र के पर्यटन विकास के लिए आए बजट का बंदरबांट हो रहा है।

Leave a Reply

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज

Gold & Silver Price